गणतंत्र दिवस की जानकारी In Hindi

दोस्तों, हम सभी हर वर्ष गणतंत्र दिवस 26 जनवरी को मनाते आ रहे हैं|जैसा की आप सभी जानते हैं गणतंत्र दिवस एक राष्ट्रिय त्यौहार है जो पूरे देश में बड़े धूमधाम के साथ मनाया जाता है|भारतीय संविधान को सम्मान देने के लिये 26 जनवरी को पूरे सम्मान के साथ हर वर्ष भारत में गणतंत्र दिवस मनाया जाता है क्योंकि आज ही के दिन 1950 में ये लागू हुआ|आज इस पोस्ट के माध्यम से मैआपको 26 जनवरी की कुछ बातें बताने जा रहा हूँ उम्मीद है आपको बहुत पसंद  आएगा|

26 जनवरी 2018 की जानकारी

आपको बताऊ भारतीय संविधान ने 1935 के अधिनियम को बदल कर खुद को भारत के संचालक दस्तावेज़ के रुप में स्थापित किया था|इस दिन को भारतीय सरकार द्वारा राष्ट्रीय अवकाश के रुप में घोषित किया गया है|भारतीय संवैधानिक सभा द्वारा नये भारतीय संविधान की रुप-रेखा तैयार हुई और स्वीकृति मिली तथा भारत के गणतांत्रिक देश बनने की खुशी में इसे हर वर्ष 26 जनवरी को मनाने की घोषणा हुई|आइये जानते हैं इससे जुडी कुछ रोचक जानकारी|

इसे भी पढ़ें – 26 जनवरी 2018 HD wallpaper.

गणतंत्र दिवस की जानकारी –

26 जनवरी की जानकारी

सन् 1929 के दिसंबर में लाहौर  में भारतीय राष्ट्रिय कांग्रेस का अधिवेशन पंडित जवाहरलाल नेहरु की अध्यक्षता में हुआ जिसमें प्रस्ताव पारित कर इस बात की घोषणा की गई कि यदि अंग्रेज सरकार 26 जनवरी 1930 तक भारत को डोमीनियन का पद नहीं प्रदान करेगी|जिसके तहत भारत ब्रिटिश साम्राज्य में ही स्वशासित एकाई बन जाता, तो भारत अपने को पूर्णतः स्वतंत्र घोषित कर देगा|26 जनवरी 1930 तक जब अंग्रेज सरकार ने कुछ नहीं किया तब कांग्रेस ने उस दिन भारत की पूर्ण स्वतंत्रता के निश्चय की घोषणा की और अपना सक्रिय आंदोलन आरंभ किया|

दोस्तों उस दिन से 1947 में स्वतंत्रता प्राप्त होने तक 26 जनवरी स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाया जाता रहा|इसके पश्चात स्वतंत्रता प्राप्ति के वास्तविक दिन 15 अगस्त को भारत के स्वतंत्रता दिवस के रूप में स्वीकार किया गया|भारत के लोग इस महान दिन को अपने तरीके से मनाते है|इस दिन पर भारत के राष्ट्रपति के समक्ष नई दिल्ली के राजपथ (इंडिया गेट ) पर परेड का आयोजन होता है|

इसे भी पढ़ें – 2 अक्टूबर HD wallpaper.

26 जनवरी की अहम् बातें –

दोस्तों हम सभी जानते हैं जब पहली बार भारत को अपना संविधान मिला तब से भारत हर साल 26 जनवरी 1950 से गणतंत्र दिवस का उत्सव मना रहा है|भारतीय इतिहास में गणतंत्र दिवस का बहुत महत्व है क्योंकि ये हमें भारतीय स्वतंत्रता से जुड़े हर-एक संघर्ष के बारे में बताता है|भारत की पूरी आजादी की प्राप्ति के लिये लाहौर में रावी नदी के किनारे 1930 में इसी दिन भारत की आजादी के लिये लड़ने वाले लोगों ने प्रतिज्ञा की थी|जो 15 अगस्त 1947 को साकार हुआ|

26 जनवरी की जानकारी

आपको बताना चाहूँगा आजादी के बाद एक ड्राफ्टिंग कमेटी को 28 अगस्त 1947 की मीटिंग में भारत के स्थायी संविधान का प्रारुप तैयार करने को कहा गया|4 नवंबर 1947 को डॉ बी.आर.अंबेडकर की अध्यक्षता में भारतीय संविधान के प्रारुप को सदन में रखा गया|इसे पूरी तरह तैयार होने में लगभग तीन साल का समय लगा और आखिरकार इंतजार की घड़ी 26 जनवरी 1950 को इसको लागू होने के साथ ही खत्म हुई|साथ ही पूर्णं स्वराज की प्रतिज्ञा का भी सम्मान हुआ|

26 जनवरी का इतिहास –

दोस्तों आपको बताऊ वर्ष 1947 में 15 अगस्त को अंग्रेजी शासन से भारत को आजादी मिली थी| उस समय देश का कोई स्थायी संविधान नहीं था|पहली बार, वर्ष 1947 में 4 नवंबर को राष्ट्रीय सभा को ड्राफ्टिंग कमेटी के द्वारा भारतीय संविधान का पहला ड्राफ्ट प्रस्तुत किया गया था|वर्ष 1950 में 24 जनवरी को हिन्दी और अंग्रेजी में दो संस्करणों में राष्ट्रीय सभा द्वारा भारतीय संविधान का पहला ड्राफ्ट हस्ताक्षरित हुआ था|तब 26 जनवरी 1950 अर्थात् गणतंत्र दिवस को भारतीय संविधान अस्तित्व में आया। तब से, भारत में गणतंत्र दिवस के रुप में 26 जनवरी मनाने की शुरुआत हुई थी।|

इस दिन भारत को पूर्णं स्वराज देश के रुप में घोषित किया गया था|अत: पूर्णं स्वराज के वर्षगाँठ के रुप में हर वर्ष इसे मनाये जाने की शुरुआत हुई|भारतीय संविधान ने भारत के नागरिकों को अपनी सरकार चुनने का अधिकार दिया|सरकारी हाऊस के दरबार हॉल में भारत के पहले राष्ट्रपति के रुप में डॉक्टर राजेन्द्र प्रसाद द्वारा शपथ लिया गया था|गणतंत्र दिवस मनाने के पीछे भारत के पास एक बड़ा इतिहास है|

वैसे आपको बताये जाड़े के उत्सव संबंधी ड्रेस पहने, राष्ट्रपति आवास से बाहर आते हुए राष्ट्रपति के अंग-रक्षकों द्वारा राजपथ पर गणतंत्र दिवस परेड की ये वास्तविक तस्वीर है|घुड़सवार रेजीमेंट में से एक खास चुनी हुयी भारतीय सेना की सबसे वरिष्ठ ईकाई भारत के राष्ट्रपति के अंगरक्षक बनते है| भारत के राष्ट्रपति की सुरक्षा और राह दिखाने के लिये उनके अंग-रक्षक पूरी तरह जिम्मेदार होते हैं| वो पूरी तरह हथियारों, बीटीआर-60 गाड़ियाँ से लैस होते हैं जो किसी भी परिस्थिति में इस्तेमाल किये जा सकते हैं साथ ही घोड़ें भी चलाते हैं|

दोस्तों इस तरह आज आप सभी ने इस आर्टिकल के माध्यम से जाना कि 26 जनवरी यानि गणतंत्र दिवस क्यूँ मनाया जाता है साथ ही इसका इतिहास आज आप सभी ने जाना|अब मै समझ सकता हूँ आप सभी को मेरा ये पोस्ट बेहद पसंद आया होगा|अगर आपको मेरा ये पोस्ट अच्छा लगा हो तो नीचे message box में comment कर बताये और अगर आपको कुछ पूछना हो तो उसे भी आप बता सकते हैं|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *