बरसाती दाने का घरेलू इलाज In Hindi

दोस्तों हम सभी बरसात के दिनों में बहुत सी बीमारी की चपेट में आ जाते है जैसे पैर में फोड़े फुंसी निकलना, दाद, खुजली, जलन और भी बहुत सी बिमारिय हो जाती है|ऐसा इसलिए होता है जैसे गन्दा पानी में चलने से गन्दी मिट्टी के लग जाने से ऐसी परेशानी आ जाती है|अधिकतर बरसात के मौसम में हम देखते है लोग खेतो में काम करते है या फिर कहीं रास्ते में पानी भरा हो तो उसमे पैर रखने से ऐसी दिक्कत आ जाती है|आज इस आर्टिकल के माध्यम से मै आपको ऐसी ही कुछ अछि बाते बताने जा रहे है जिससे आपको बहुत लाभ हो सकता है|आज मै आपको बरसाती दाने के घरेलू इलाज के बारे में बताने जा रहा हु जो की बहुत ही आसान और सस्ता साबित हो सकता है|

बरसाती दाने का घरेलू इलाज in hindi

हम देखते है बच्चो के पैर में कीचड़ लग गया और या लोगो की पैरो की अंगुलियाँ लाल पड़ गयी और बहुत खुजलाहट होती है रात में ऐसी परेशानी अधिक सक्रीय हो जाती है|जिससे निजाद पाने के लिए हम मार्किट से बहुत सी दवाइयों का इस्तेमाल करते है लेकिन परिणाम क्या होता है की जब लगायेंगे तब तो सही हो जायेगा लेकिन बाद में फिर वही समस्या सामने कड़ी हो जाती है|आपको आज मै ऐसे कुछ आसान से उपाय बताने जा रहे है जिससे आपको बहुत लाभ हो सकता है आइये जानते है|

बरसाती दाने का देशी इलाज –

  • आपको सबसे सस्ता और आसान उपाय बताये तो सबसे पहले आप जाने अगर आपके पैर में खुजलाहट हो रही हो और पैरो की अंगुलियाँ लाल पड़ गयी हो तो ऐसे में मै समझता हु सभी के घरो में सरसों का तेल होगा|आप सरसों के तेल को गर्म कर ले और थोडा गरम ही रहे आप अपने पैर पर उसे अच्छे से लगाये|थोड़ी देर बाद आप देखेंगे की आप के पैर का दर्द और खुजली बिलकुल गायब हो गयी|ये आपके लिए बहुत सस्ता और आसान उपाय है जो सभी के लिए अच्छा है|
  • दोस्तों आपको और सरल उपाय बताये थोड़ी सी साफ़ रुई देशी घी में भिगोयें और फिर हथेली से दबाकर अतिरिक्त घी निकाल दें|अब तवा गरम करके उस पर रुई फाहे को गरम करें|जब रुई का फाहा सहने योग्य गरम रह जाये, तब इसे फोड़े पर रखकर पट्टी बांध दें|ऐसा सुबह शाम करने से फोड़ा पककर फूट जायेगा तथा उसकी जड़ भी निकल जाएगी|
  • दोस्तों ये मै नही कह रहा आयुर्वेद के अनुसार नीम के सूखी छाल को पानी के साथ घिसकर फोड़े फुंसी पर लेप लगाने से बहुत लाभ मिलता है|जब तक फोड़े फुंसी पूरी तरह से ठीक न हों जाएँ तब तक शक्कर से बनी चीज़ों, बासी, तले और मिर्च मसाले वाले पदार्थों को खाना छोड़ देना चाहिए|इस तरह आप बरसात के दाने को भी ख़त्म कर सकते है|
  • दूसरा उपाय बताये नारियल के तेल में तुलसी के पत्तों का रस, समान मात्रा में मिलाकर मन्दी आँच पर पकायें|जब जल भाग जल जाये और तेल भाग बचे तब इसमें थोड़ा मोम डाल दें और हिलायें|जब मोम पिघलकर मिल जाये तब उतार कर ठण्डा कर लें|यह मलहम फोड़े-फुंसी और जले पर लगाने से फायदा होता है|
  • फोड़े-फुन्सी में इमली का रस पीने से काफी लाभ होता है|25-30 ग्राम इमली का गूदा पानी में भिगो दें|जब गूदा फुल जाए तो उसे पानी में मथकर इस शरबत को छानकर पी जाएं|इससे आपको बरसाती दाने में भी फायदा मिल सकता है|
  • दोस्तों अगर आपके सरीर के किसी भी भाग में फोड़े फुंसी या खुजलाहट हो और या फिर बरसाती दाने हो तो ऐसे में हल्दी को पीसकर तवे पर जरा-सा तेल डालकर गरम करे|फिर उसे फाहे पर रखकर फुड़िया पर बांध दे|इससे आपको बहुत लाभ मिलेगा|
  • नींबू के छोटे छोटे पत्ते खाने से लाभ होता है|नींबू में मौजूद विटामिन सी ख़ून को साफ़ करता है|फोड़े फुंसियों पर नींबू की छाल पीसकर लगाने से भी आपको लाभ मिलेगा|

दोस्तों इस तरह आपको अगर बरसात में ऐसी परेशानी आ जाये तो मेरे द्वारा बताये गए in तरीको को फॉलो करे मै उम्मीद के साथ कह सकता हु बहुत लाभ मिलेगा|साथ ही आपको कुछ जरुरी बात बताऊ सुबह उठकर नित्य टहलें और व्यायाम भी करें ताकि आपके शरीर और रक्त को ऑक्सीजन युक्त शुद्ध हवा मिल सके और शरीर का रक्त प्रवाह भी सुधर सकें|आप अपने स्वास्थ्य के प्रति जरुर ध्यान दे इससे आपको   किसी भी एरिया में काम करेंगे सफलता जरुर मिलेगी और आप सक्रीय रह  सकते  है|

अब मै समझ सकता हु आप सभी को मेरा ये पोस्ट बहुत अच्छा लगा होगा अगर आपने अच्छे से मेरे द्वारा लिखे पोस्ट को पढ़े होंगे तो आपको जरुर अछि जानकारी मिल गयी होगी|अगर आपको कुछ पूछना हो तो आप निचे message box में लिखकर पूछ सकते है आप की जरुर सहायता की जाएगी|

इसे भी पढ़े –

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *