Rajesh Khanna Biography In Hindi

दोस्तों, राजेश खन्ना एक भारतीय अभिनेता, फिल्म निर्माता और राजनीतिज्ञ थे, जो हिंदी सिनेमा में उनके काम के लिए जाने जाते हैं|उन्हें प्रथम सुपरस्टार और भारतीय सिनेमा के मूल सुपरस्टार के रूप में जाना जाता हैं|उन्होंने 1969 से 1971 की अवधि में लगातार 15 अलग अलग हिट फिल्मों में अभिनय किया, और एक कभी न टूटने वाला रिकॉर्ड बनाया|राजेश खन्ना जी ऐसे अभिनेता थे जिन्हें दुनिया कभी नही भूल पायेगी|आज इस पोस्ट के माध्यम से मै आपको राजेश खन्ना जी के बारे में बताने जा रहा हूँ साथ ही आपको इनके जीवन से जुडी कुछ अहम् जानकारी पेश कर रहा हूँ|

आपको बताऊ राजेश खन्ना 1966 में फ़िल्म आखरी खत के साथ अपने कैरियर की शुरुआत की|अपने कैरियर के माध्यम से वह 168 से अधिक फीचर फिल्मों और 12 लघु फिल्मों में दिखाई दिए|उन्हें तीन बार फिल्मफेयर बेस्ट एक्टर अवार्ड और सर्वश्रेष्ठ अभिनेता (हिंदी) के लिए चार बार बीएफजेए पुरस्कार भी मिला|बाद में 1991 में उन्हें फिल्मफेयर स्पेशल अवार्ड से सम्मानित किया गया और 2005 में उन्हें फिल्मफेयर लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड प्राप्त हुआ|1970 से 1987 तक वह सबसे महंगे भारतीय अभिनेता थे|अब आइये जानते हैं राजेश खन्ना का जीवन परिचय|

राजेश खन्ना का जीवन परिचय

इसे भी पढ़ें – हेमा मालिनी का जीवन परिचय|

राजेश खन्ना का जीवन परिचय –

वास्तविक नाम – जतिन खन्ना|

उपनाम – काका, पहला भारतीय सुपरस्टार|

जन्म – 29 दिसम्बर 1942|

जन्मस्थान – अमृतसर, पंजाब|

माता – चंद्रराणी खन्ना (जैविक माँ), लीलावती खन्ना (गोद लेने वाली माँ)|

पिता – लाला हिरानंद (जैविक पिता, हेडमास्टर), चुन्नीलाल खन्ना (गोद लेने वाले पिता)|

विवाह – डिम्पल कपाडिया|

बच्चे – ट्विंकल खन्ना, रिंकी खन्ना|

डेब्यू – आखिरी ख़त|

मृत्यु – 28 जुलाई 2012|

इसे भी पढ़ें – श्रीदेवी का जीवन परिचय|

राजेश खन्ना का जीवन परिचय

दोस्तों राजेश खन्ना को भारतीय सिनेमा के पहले सुपरस्टार के रूप में श्रेय दिया जाता है|राजेश खन्ना का जन्म 29 दिसंबर 1942 को पंजाब राज्य में अमृतसर में हुआ था|राजेश खन्ना का असली नाम जतीन हैं जिनका पालन पोषण लीलावती चुन्नीलाल खन्ना ने कीया था|लीलावती खन्ना, जो राजेश खन्ना के जैविक माता-पिता के रिश्तेदार थे और उन्होंने राजेश खन्ना को गोद लिया था|राजेश खन्ना के जैविक माता-पिता लाला हिरणंद और चंद्रराणी खन्ना थे जो पूर्व-विभाजन वाले पाकिस्तान से अमृतसर में आकर बस गए थे|

राजेश खन्ना ने सेंट सेबैस्टियन के गोयन हाई स्कूल में अपने दोस्त रवि कपूर के दाखिला लिया, जिन्हें अभी जितेंद्र के नाम से जाना जाता हैं|खन्ना ने धीरे-धीरे थियेटर में दिलचस्पी लेना शुरू कर दिया, बहुत सारे मंच और थिएटर अपने स्कूल और कॉलेज के दिनों में खेलता रहा और अंतःविषय कॉलेज नाटक प्रतियोगिताओं में कई पुरस्कार जीते|कहने का मतलब ये है की बहुत ही प्रतिभावान अभिनेता थे|

इतना ही नही आपको बताना चाहूँगा 1962 में, खन्ना ने अन्धा युग नाटक में एक घायल मौत का सिपाही का रोल निभाया और उनके प्रदर्शन से मुख्य अतिथि प्रभावित हुए उन्हें जल्द फिल्मों में आने का सुझाव दिया, जिन्होंने 1960 के दशक के आरंभ में थिएटर और फिल्मों में काम करने के लिए संघर्ष किया|राजेश खन्ना ने 1959 से 1961 तक पुणे के नौवरजी वाडिया कॉलेज में अपनी पहली दो वर्ष की कला स्नातक की|बाद में खन्ना के सी सी कॉलेज, मुंबई और जीतेन्द्र में अध्ययन सिद्धार्थ जैन कॉलेज से हुआ| खन्ना ने अपनी पहली फिल्म ऑडिशन के लिए जितेंद्र को पढ़ा|खन्ना के चाचा के.के. तलवार ने राजेश को खन्ना का पहला नाम बदला जब उन्होंने फिल्मों में शामिल होने का फैसला किया|

फ़िल्मी सफ़र –

राजेश खन्ना का जीवन परिचय

दोस्तों राजेश खन्ना जी बहुत ही अच्छे और talented actor थे|उन्होंगे अपने जीवन को ऐसे अंदाज में बिताया शायद कोई होगा जिसे ऐसा सुअवसर मिलता है|राजेश खन्ना जी ने 1969-72 में लगातार 15 solo सुपरहिट फिल्में दिया – सच्चा झूठा, इत्त्फ़ाक़, दो रास्ते, बंधन, डोली, सफ़र, कटी पतंग, आराधना,आन मिलो सजना, ट्रैन, आनन्द, दुश्मन, महबूब की मेंहदी, खामोशी, हाथी मेरे साथी|

इतना ही नही बाद के दिनों में 1972-1975 तक अमर प्रेम, दिल दौलत दुनिया, जोरू का गुलाम, शहज़ादा, बावर्ची, मेरे जीवन साथी, अपना देश, अनुराग, दाग, नमक हराम, अविष्कार, अज़नबी, प्रेम नगर, रोटी, आप की कसम और प्रेम कहानी जैसी फिल्में भी कामयाब रहीं|आप सभी जानते हैं उन्होंगे जितनी फिल्मे की सब हिट रही|1991 के बाद राजेश खन्ना का दौर खत्म होने लगा|बाद में वे राजनीति में आये और 1991 वे नई दिल्ली से कांग्रेस की टिकट पर संसद सदस्य चुने गये|1994 में उन्होंने एक बार फिर खुदाई फिल्म से परदे पर वापसी की कोशिश की|1996 में उन्होंने सफ़ल फिल्म “सौतेला भाई” की|

दोस्तों आ अब लौट चलें, क्या दिल ने कहा, प्यार ज़िन्दगी है, वफा जैसी फिल्मों में उन्होंने अभिनय किया लेकिन इन फिल्मों को कोई खास सफलता नहीं मिली|कुल उन्होंने 1966-2013 में 117 फिल्म की और 117 में 91 हिट रही|कुल उन्होंने 1966-2013 में 163 फिल्म किया और 105 हिट रहे|इस तरह उनका फ़िल्मी सफ़र और career काफी अच्छा रहा|

इसे भी पढ़ें – मिथुन चक्रवर्ती का जीवन परिचय|

दोस्तों इस तरह आप सभी ने आज इस पोस्ट में पढ़ा राजेश खन्ना जी के बारे में और कुछ अच्छी सी जानकारी ली उम्मीद है आपको मेरा ये अर्टिकल बेहद पसंद आया होगा अगर आपको मेरा ये पोस्ट अच्छा लगा हो तो नीचे comment कर जरुर बताये साथ ही अगर आपको कुछ पूछना हो या बताना हो तो comment कर सकते हैं|

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *