Tag Archives: गुरु नानक देव जी का जीवन परिचय

गुरु नानक जयंती 2017 की Date और पूरी जानकारी

दोस्तों, गुरु नानक सिक्खों के धर्म गुरु हैं आप सभी जानते हैं और पढ़ते आ रहे हैं गुरु नानक देव जी पहले गुरु हैं|आपको बताये इनके अनुयायी इन्हें गुरु नानक, गुरु नानक देव जी, बाबा नानक और नानकशाह नामों से संबोधित करते हैं|लद्दाख व तिब्बत में इन्हें नानक लामा भी कहा जाता है|गुरु नानक अपने व्यक्तित्व में दार्शनिक, योगी, गृहस्थ, धर्मसुधारक, समाजसुधारक, कवि, देशभक्त और विश्वबंधु – सभी के गुण समेटे हुए थे|आज इस आर्टिकल के माध्यम से मै आपको गुरु नानक देव जी के बारे में बताऊंगा साथ ही आपको इनके जीवन से जुडी कुछ अहम् जानकारी पेश कर रहा हूँ उम्मीद है आपको बेहद पसंद आएगा|

गुरु नानक biography in hindi

आपको बताना चाहूँगा गुरु नानक देव जी बड़े ही धार्मिक और समाज सुधारक रहे हैं जिनका नाम अमर है और ऐसे व्यक्तित्व के लोग अब दुबारा जन्म शायद ही लें|गुरु नानक जी अच्छे कवि रहे हैं जिनकी बहुत सी रचनाएँ सुविख्यात हैं और उनके पद में एक अलग ही व्यक्तित्व का दर्शन होता है|बहुत से लोग सर्च करते हैं और जानना चाहते हैं कि गुरु नानक जी के बारे में निबंध और उनकी रचनाएँ साथ ही बहुत से लोग जानना चाहते हैं गुरु नानक के दोहे तो आज मै आप सभी को गुरु नानक जी के बारे में अच्छे से जानकारी देने वाला हूँ उम्मीद है आपको जरुर अच्छा लगेगा|

इसे भी पढ़ें – Halloween 2017 की date और पूरी जानकारी|

गुरु नानक देव जी का जीवन परिचय –

गुरु नानक देव जीवन परिचय

पूरा नाम – गुरु नानक देव|

जन्म – 15 अप्रैल 1469.

जन्म स्थान – ननकाना साहिब तलवंडी|

पिता – कल्यानचंद|

माता – तृप्ता देवी|

शिक्षा – हिंदी, फारसी, संस्कृत और पंजाबी|

विवाह – सुलक्षणा देवी|

इसे भी पढ़ें – छट पूजा 2017 HD wallpaper.

“सालाही सालाही एती सुरति न पाइया,
नदिआ अते वाह पवहि समुंदि न जाणी अहि|”

गुरु नानक देव जी का जन्म 15 अप्रैल 1469 में ननकाना साहिब तलवंडी में हुआ था|गुरु नानक जी ने ही सिख धर्म की स्थापना किया था|इनका जन्म राप्ती नदी के किनारे हुआ था|नानक जी मे बचपन से ही आध्यात्मिक, विवेक और विचारशील जैसी कई खूबियां मौजूद थीं|उन्होंने सात साल की उम्र में ही हिन्दी और संस्कृत सीख ली थी|16 साल की उम्र तक आते आते वह अपने आस-पास के राज्य में सबसे ज्यादा पढ़े लिखे और जानकार बन चुके थे|इस्लाम, ईसाई धर्म और यहूदी धर्म के शास्त्रों के बारे में भी नानक जी को जानकारी थी|

गुरु नानक देव का जीवन परिचय

आपको बताना चाहूँगा बचपन से इनमें प्रखर बुद्धि के लक्षण दिखाई देने लगे थे|लड़कपन ही से ये सांसारिक विषयों से उदासीन रहा करते थे|पढ़ने लिखने में इनका मन नहीं लगा|7-8 साल की उम्र में स्कूल छूट गया क्योंकि भगवत्प्रापति के संबंध में इनके प्रश्नों के आगे अध्यापक ने हार मान ली तथा वे इन्हें ससम्मान घर छोड़ने आ गए|तत्पश्चात् सारा समय वे आध्यात्मिक चिंतन और सत्संग में व्यतीत करने लगे|बचपन के समय में कई चमत्कारिक घटनाएं घटी जिन्हें देखकर गाँव के लोग इन्हें दिव्य व्यक्तित्व मानने लगे|बचपन के समय से ही इनमें श्रद्धा रखने वालों में इनकी बहन नानकी तथा गाँव के शासक राय बुलार प्रमुख थे|

इसे भी पढ़ें – भाई दूज 2017 HD wallpaper.

“पवणु गुरु पानी पिता माता धरति महतु,
दिवस रात दुई दाई दाइआ खेले सगलु जगतु|”

दोस्तों आखिर में अपनी 25 वर्ष की यात्रा के बाद श्री गुरु नानक देव जी करतारपुर, पंजाब के एक गाँव में किसान के रूप में रहने लगे और बाद में उनकी मृत्यु भी वही हुई|भाई गुरुदास जिनका जन्म गुरु नानक के मृत्यु के 12 वर्ष बाद हुआ बचपन से ही सिख मिशन से जुड़ गए|उन्हें सिख गुरुओं का प्रमुख चुना गया|उन्होंने सिख समुदाय जगह-जगह पर बनाया और अपने बैठक के लिए सभा बनाया जिन्हें धरमशाला के नाम से जाना जाता है|आज के दिन में धरमशालाओं में सिख समुदाय गरीब लोगों के लिए खाना देता है|

गुरु नानक देव जी हिन्दू-मुस्लिम एकता के भारी समर्थक थे|धार्मिक सदभाव की स्थापना के लिए उन्होंने सभी तीर्थों की यात्रायें की और सभी धर्मों के लोगों को अपना शिष्य बनाया|उन्होंने हिन्दू धर्म और इस्लाम, दोनों की मूल एवं सर्वोत्तम शिक्षाओं को सम्मिश्रित करके एक नए धर्म की स्थापना की जिसके मिलाधर थे प्रेम और समानता|यही बाद में सिख धर्म कहलाया|भारत में अपने ज्ञान की ज्योति जलाने के बाद उन्होंने मक्का मदीना की यात्रा की और वहां के निवासी भी उनसे अत्यंत प्रभावित हुए|25 वर्ष  के भ्रमण के पश्चात् नानक कर्तारपुर में बस गये और वहीं रहकर उपदेश देने लगे|उनकी वाणी आज भी ‘गुरु ग्रंथ साहिब’ में संगृहीत है|इस तरह उन्होंने अपना सारा जीवन त्याग में ही बिताया|

इसे भी पढ़ें – गोवर्धन पूजा 2017 की date और HD wallpaper.

दोस्तों अब मै समझ सकता हूँ आप सभी को मेरा ये पोस्ट बहुत अच्छा लगा होगा अगर आप सभी ने अच्छे से मेरे इस पोस्ट को read किये होंगे तो आपको गुरु नानांक देव जी से जुडी जानकारी मिल गयी होगी|अगर आपको कुछ पूछना हो तो नीचे message box में comment कर पूछ और बता सकते हैं|