Tag Archives: नर्गिस के पति का नाम

Nargis Datt Biography In Hindi

दोस्तों नर्गिस दत्त भारतीय हिंदी फिल्मों की एक खूबसूरत अदाकारा थी|उन्होंने कई हिट फिल्मे दी तथा अनेक राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त किये|अपने उल्लेखनीय कार्य के लिए उन्हें पद्मश्री से नवाजा जा चुका है|श्री 420 और मदर इंडिया उनकी सफलतम फ़िल्में रही है|मदर इंडिया फिल्म ऑस्कर के लिए नामित हुई थी|आज इस पोस्ट के माध्यम से मै आपको नर्गिस जी के बारे में बताने जा रहा हूँ साथ ही आपको इनके जीवन परिचय से भी अवगत कराता हूँ|

वैसे आपको बताऊ नरगिस के पिता जी का नाम उत्तमचंद मूलचंद था और रावलपिंडी के रहने वाले थे|माता जी का नाम  जद्दनबाई था जो एक हिंदुस्तानी क्लासिकल गायिका थी और भारतीय सिनेमा से जुडी हुयी थी|जद्दनबाई सिनेमा के क्षेत्र में गायक, नर्तक, निर्देशक, संगीतकार और अभिनेत्री के रूप में कार्य करती थी और  फिल्म जगत में काफी सक्रियता के साथ  जुडी हुई थी|तो चलिए अब हम सभी इनके जीवन परिचय पर प्रकाश डालते हैं|

नर्गिस का जीवन परिचय

नर्गिस दत्त का जीवन परिचय –

पूरा नाम – फ़ातिमा रशिद|

उपनाम – नर्गिस, नर्गिस दत्त|

जन्म – 1 जून, 1929|

इसे भी पढ़ें – श्रीदेवी का जीवन परिचय|

जन्म स्थान – कलकत्ता|

माता पिता – जद्दनबाई, उत्तमचंद मूलचंद|

आपको बताऊ नरगिस दत्त का जन्म फातिमा अब्दुल रशीद के रूप में 1 जून, 1929 को कलकत्ता में हुआ था|हालांकि उनके जन्मस्थान को लेकर विवाद है, कुछ लोग उनका जन्म इलाहबाद में होना मानते है|नरगिस के पिता उत्तमचंद मूलचंद, रावलपिंडी से ताल्लुक रखने वाले समृद्ध हिंदू थे एवं माता जद्दनबाई, एक हिंदुस्तानी क्लासिकल गायिका थी तथा दो भाई, अख्तर व अनवर हुसैन थे|नरगिस की माता भारतीय सिनेमा से सक्रियता से जुडी हुई थी|वह गायक, नर्तक, निर्देशक, संगीतकार और अभिनेत्री के रूप में एक हरफनमौला थी|

नर्गिस दत्त का जीवन परिचय

दोस्तों उनकी प्रिय पुत्री नरगिस ने भारतीय फिल्मों में बहुत कम उम्र में प्रवेश कर लिया था|उनकी पदार्पण फिल्म थी तलाश-ए-हक़ जो 1935 में रिलीज हुई थी|मदर इण्डिया की शूटिंग के दौरान सुनील दत्त ने उनके सामने विवाह का प्रस्ताव रखा जिसे उन्होंने सहज स्वीकार का लिया था|11 मार्च 1958 को नरगिस ने सुनील दत्त से विवाह कर लिया और फिल्म इंडस्ट्री को अलविदा कह दिया|सुनील दत्त एक मशहूर फिल्म अभिनेता थे|उनके तीन बच्चे हुए, संजय, अंजू और प्रिया|वर्तमान में संजय दत्त फिल्म कलाकार है तथा प्रिया दत्त राजनीती से जुडी हुई है|

फ़िल्मी सफ़र –

आपको बताना चाहूँगा नर्गिस ने मात्र छह साल की उम्र में ही 1935 में आई फिल्म तलाशे हक़ में अभिनय किया और इसी के साथ फ़िल्मी सफ़र की शुरुआत की और सफलता की ओर लगातार बढती गयी क्युकि उन्हें बचपन से ही कला विरासत में मिली थी|1935 में जब नरगिस महज पांच बरस की थी मां जद्दनबाई ने अपनी फिल्म ‘तलाश-ए-हक़’ में उनसे काम करवाया|इसी फिल्म से उनका नाम बेबी नरगिस पड़ा था|चौदह वर्ष की उम्र में निर्देशक महबूब खान की फिल्म ‘तक़दीर’ में मोतीलाल की हीरोइन के तौर पर उनका पहला ऑडीशन हुआ था|

राजकपूर के साथ नर्गिस जी की जोड़ी दर्शको ने काफी सराहा और इस जोड़ी ने कई फिल्मे बनायीं|1940-1960 के दशक में सबसे खूबसूरत और पॉपुलर जोडि़यों में से एक थी|लोगो की माने तो राजकपूर और  नर्गिस के बीच प्यार मोहब्बत का सिलसिला काफी समय तक चला, हर तरफ इनके  प्यार और इश्क के चर्चे मशहूर रहे|लेकिन दोनों की शादी नहीं हो सकी क्युकि उस दौरान हालत ही एसे बने की शादी सुनील दत्त से कर ली|

नर्गिस दत्त का जीवन परिचय

इसे भी पढ़ें – सुनील दत्त का जीवन परिचय|

फिल्मे –

  • हुमायूँ|
  • अंदाज|
  • बरसात|
  • आधी रात|
  • जान पहचान|
  • आवारा|
  • अंबर|
  • अनहोनी|
  • पापी|
  • श्री 420|
  • चोरी चोरी|
  • परदेसी|
  • मदर इण्डिया|

नर्गिस दत्त का जीवन परिचय

  • लाजवंती|
  • काला बाज़ार|
  • यादें|
  • रात और दिन|

अवार्ड्स –

  1. फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री पुरस्कार|
  2. फ़िल्म-मदर इंडिया की सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री के लिए  अतर्राष्ट्रीय फ़िल्म महोत्सव वरी द्वारा पुरस्कार|
  3. पद्मश्री अवार्ड से भी सम्मानित|
  4. राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार फ़िल्म- रात और दिन की सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री  के रूप में|
  5. सर्वश्रेष्ठ अभिनय का राष्ट्रीय पुरस्कार|

दोस्तों अभिनय से अलग होने के बाद नर्गिस सामाजिक कार्य में जुट गईं|नर्गिस ने पति सुनील दत्त के साथ अजंता आर्ट्स कल्चरल ट्रूप की स्थापना की|यह दल सीमाओं पर जाकर जवानों के मनोरंजन के लिए स्टेज शो करता था|इसके अलावा वे स्पास्टिक सोसाइटी से भी जुड़ी रहीं|बाद में नर्गिस को राज्यसभा के लिए भी नामित किया गया, लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था|वे अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर सकीं|इसी कार्यकाल के दौरान वे गंभीर रूप से बीमार हो गईं और 3 मई 1981 को कैंसर के कारण उनकी मौत हो गई|

इसे भी पढ़ें – लता मंगेश्कर का जीवन परिचय|

दोस्तों इस तरह आप सभी ने नर्गिस जी के बारे में जाना उम्मीद है आप सभी ने अच्छे से मेरे इस पोस्ट को read किया होगा अगर आप ने सही से पढ़ा होगा तो आपको अच्छी जानकारी मिल गयी होगी|अगर आपको मेरा ये आर्टिकल अच्छा लगा हो तो नीचे comment कर जरुर बताये साथ ही अगर आपको कुछ पूछना हो तो message box में बता सकते हैं|