Tag Archives: नामर्दी का इलाज In Hindi

नामर्दी का इलाज In Hindi

दोस्तों, हम सभी जानते हैं हम बहुत छोटी छोटी गलतियाँ अक्सर बचपन में करते आते हैं जिसका सामना हमे बड़े होकर करना पड़ता है जो बाद में बहुत बिकराल रो धारण कर लेती हैं|आज इस आर्टिकल के माध्यम से मै बात करने जा रहा हूँ नामर्दी यानि मर्दानगी न होने के कारण और इसके उपाय|वैसे आपको बताये टेस्टोस्टेरॉन प्रमुख पुरुष हॉर्मोन का नाम है और यह अंडकोषों की कोशिकाओं द्वारा बनाया जाता है|अगर ये कोशिकाएं सक्रिय नहीं होतीं तो युवावस्था आने में देर लगती है या यौन स्तर पर पुरुष बच्चा ही बना रहता है|

आपको बताऊ टेस्टोस्टेरॉन हॉर्मोन में कमी होने से आदमी की न सिर्फ कामेच्छा और काम शक्ति में कमी आ जाती है, बल्कि सीमेन की मात्रा भी कम हो जाती है|इस पुरुष हॉर्मोन की कमी की वजह से दाढ़ी-मूंछ आने की गति भी कम या धीमी हो जाती है|अगर किसी में इस हॉर्मोन का अभाव है, काम लक्षणों के विकास में कमी दिखाई देती है या बुढ़ापे में पुरुष हॉर्मोन की मात्रा कम हो जाने का प्रमाण है तो उस शख्स में पुरुष हॉर्मोन की कमी हो सकती है|आइये जानते हैं ऐसा क्यू होता है साथ ही इसके बचने के उपाय बताते हैं|

नामर्दी/ नपुंसकता  के कारण –

दोस्तों आपको बताये नामर्दी के सिर्फ दो ही कारण हो सकते हैं या होते हैं एक तो मानशिक और दूसरा शारीरिक|अब इसमें ये कैसे तो आपको बताऊ अधिक तनाव का होना आदि मानसिक तनाव के कारण ऐसा होता है|शारीरिक का मतलब अधिक बीमारी या लम्बे समय तक बीमारी का पनपना भी शारीरिक नपुंसकता का मुख्य कारण है|तो आपको ऐसी चीजों से बचना होगा|आपको कुछ और भी कारण बता रहे हैं नामर्दी के आइये जानते हैं|

  • हार्मोंश में बदलाव का आना|
  • हाई ब्लड प्रेशर, दिल की बीमारी और सुगर जैसी बीमारी भी नामर्दी का कारण बन जाती हैं|
  • दुर्घटना में किसी नश का कटना या कहीं चोट लग जाना|
  • नशा के करने से भी ऐसा हो जाता है|
  • हस्तमैथुन अधिक करने से और श्वप्नदोष अधिक होने से ऐसा देखा जाता है|

इसे भी पढ़ें – नाभि में तेल लगाने के अनसुने फायदे in hindi.

नामर्दी के लक्षण –

  1. पार्टनर को टच करते ही डिस्चार्ज हो जाना|
  2. सम्भोग के समय जल्दी वीर्य का निकलना|
  3. सम्भोग के समय लिंग में कड़कपन न आना या फिर कड़कपन अधिक समय तक न रहना|

नामर्दी का इलाज –

दोस्तों आपको बताऊ ऐसे इंसान के खून से टेस्टोस्टेरॉन का टेस्ट कराना जरूरी है|अगर आदमी के लक्षण और परीक्षण दोनों में टेस्टोस्टेरॉन की कमी दिखाई देती है तो ही बाजार में मिलने वाले वाले सिंथेटिक टेस्टोस्टेरॉन अनडेकेनोएट का इस्तेमाल करना चाहिए, वरना नहीं|40 की उम्र के बाद अगर टेस्टोस्टेरॉन का इस्तेमाल करना हो, तो यह हॉर्मोन लेने से पहले प्रोस्टेट ग्रंथि की जांच कराना जरूरी है क्योंकि यह हॉर्मोन प्रोस्ट्रेट ग्रंथि के अदृश्य या सूक्ष्म कैंसर को उभार सकता है|


बताना चाहूँगा आज बाजार में जितने भी ऐसे हॉर्मोन मिलते हैं, उनमें टेस्टोस्टेरॉन अनडेकोनेट सबसे अच्छा माना जाता है|अगर किसी शख्स को अपनी डाइट में टेस्टोस्टेरॉन बढ़ाना हो तो हींग या लहसुन की तड़के वाली उड़द की दाल हफ्ते में दो बार खाएं|सूर्य नमस्कार करें|यह भी हॉर्मोन के संतुलन में मदद करता है|किशोर इस सिंथेटिक हॉर्मोन का इस्तेमाल बिना सोचे-समझे न करें क्योंकि इससे शुक्राणुओं की संख्या कम भी हो सकती है|

इसे भी पढ़ें – सर्दी में फटे होंठों का घरेलू उपाय|

  • पहला उपचार बताऊ जो बहुत ही आसान है|जामुन की गुठली पीसकर उसका पाउडर बना ले और गर्म दूध के साथ इसका रोज सेवन करें इससे आपको बहुत जल्द राहत मिलेगा और आपको बहुत लाभ होगा|
  • अगर आपको शीघ्रपतन रोकना है तो मै बताऊ आप 1 चम्मच पीसी मिश्री, 1 चम्मच सफ़ेद प्याज का रश और 1 चम्मच शहद मिलाकर रोज सेवन करें बहुत फायदा मिलेगा इसमें कोई संसय होना ही नही चाहिए|
  • वीर्य दोष यानि आपको धातु क्षिणता हो तो आधा चम्मच हल्दी पाउडर एक चम्मच शहद में मिला कर सुबह सुबह खाली पेट सेवन करते रहने से संभोग शक्ति बढ़ती है|
  • मेवों के सेवन से भी उत्‍तेजना की समस्‍या का इलाज किया जा सकता है|बादाम, खजूर, किश्‍मिश और पिस्‍ता का रोजाना सीमित मात्रा में सेवन करने से सेक्‍स समस्‍याओं से निजात मिल सकती है|
  • 2 ग्राम पिसा इलायची दाना, 1 ग्राम पिसी जावित्री, 5 भिगोकर पीसी हुई बादाम और 10 ग्राम पिसी मिसरी को मिलाकर पेस्ट बना लें|इस पेस्ट को 2 चम्मच मक्खन के साथ सुबह खाएँ|इस उपचार से स्पर्म काउंट बढ़ता है, जिससे नपुंसकता ख़त्म हो जाती है|
  • 15 ग्राम जायफल, 5 ग्राम अकरकरा, 20 ग्रामा हिंगुल भस्म और 10 ग्राम केसर मिलाकर पीस लें|अब इस मिश्रण में शहद मिलाकर घोट लें|फिर चने के दाने के बराबर गोलियाँ बना लें| रोज़ सोने से पहले 2 गोलियाँ दूध के साथ खाएँ|इस आयुर्वेदिक उपाय से शिशन का ढीलापन ख़त्म हो जाएगा और नामर्दी से छुटकारा मिलेगा|
  • आधा किलो इमली के बीज को तोड़कर 3 तीन दिन पानी में भिगोकर रखें|फूले हुए बीजों से छिलके हटा दें और सफेद भाग को खरल में डालकर पीस लें|अब इसमें आधा किलो मिसरी मिलाकर कांच के मर्तबान में रख दें|इस मिश्रण को आधा आधा चम्मच दिन में दो बार दूध के साथ लें|इस उपाय को करने से संभोग करने की शक्ति बढ़ेगी और शीघ्र पतन की समस्या दूर होगी|
  • अश्वगंधा का चूर्ण, असगंधा और बिदारीकंड को 100-100 ग्राम मात्रा में बारीक़ पीसकर चूरन तैयार करें|रोज़ सुबह शाम दूध के साथ आधा चम्मच यह चूरन लेने से वीर्य में शुक्राणुओं की संख्या बढ़ती है और मर्दाना कमज़ोरी दूर होती है|

इसे भी पढ़ें – खांसी का घरेलू उपचार in hindi.

दोस्तों अब मै समझ सकता हूँ आप सभी ने मेरे इस पोस्ट को अच्छे से पढ़ा होगा और आप सभी को समझ भी आ गया होगा|अगर आप सभी ने मेरे इस पोस्ट को सही से read किया होगा तो आपको नामर्दी से जुडी अच्छी जानकारी मिल गयो होगी|अब अगर आपको कुछ पूछना हो तो नीचे message box में comment कर बता सकते हैं|